Hindi Thought with meaning (There is a lot of difference in criticizing others/आलोचना करने और दूसरों की बुराइयां)

Hindi Thought, Hindi Quote, suvichar, difference, criticise,

आज का विचार (Thought of the Day in Hindi) 

आलोचना करने और दूसरों की बुराइयां करने में बहुत फर्क है। आलोचना दूसरों को करीब लाती है पर बुराई करना दूसरों को दूर ले जाती है। (Click to Tweet)

Hindi Thought English Translation -

There is a lot of difference in criticizing others and talking evil about others. Criticism brings others closer, but talking evil takes others away.

हिंदी विचार की व्याख्या- दूसरों की आलोचना करना दूसरों में बुरे बिंदुओं को उजागर करने का एक सकारात्मक तरीका है और ज्यादातर, लोग आलोचना की सराहना करते हैं और खुद को सुधारने के लिए इसकी मदद लेते हैं। हालाँकि, दूसरों के बारे में बुराई करना एक बुरी आदत है और जब लोगों को इसके बारे में पता चलता है तो वे आपसे नफरत करने लगते हैं।

Hindi Thought Meaning - Criticizing others is a positive manner to highlight the bad points in others and mostly, people appreciate criticism and get its help to improve themselves. However, talking evil about others is a bad habit and when people learn about it then they start hating you. 

Check More Hindi Thoughts of Criticism

Hindi Thought on Criticism 1
Hindi Thought on Criticism 2
Hindi Thought on Criticism 3
Hindi Thought on Criticism 4

No comments:

Post a Comment

Hindi Thought of the Day

The bird sitting on the tree's branch/पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी (Hindi Thought)

"पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी कभी भी डाल हिलने से नहीं घबराता क्योंकि पंछी डाली पर नही अपने पंखों पर भरोसा करता है।"  Hindi Though...

Popular Posts