Hindi Thought (Even if rain drops are small/ बारिश की बूँदें भले ही छोटी हों)

Hindi Thought, rain drops, small, बारिश, बूँदें, छोटी, rivers, shower,
Hindi Thought (Even if rain drops are small/ बारिश की बूँदें भले ही छोटी हों)


"बारिश की बूँदें भले ही छोटी हों, लेकिन उनका लगातार बरसना बड़ी - बड़ी नदियों का बहाव बन जाता है।"

Hindi Thought English Translation-

"Even if raindrops are small, but their persistent Shower can give a flow of great - great rivers."

Watch the video Explanations and learning from this Hindi Thought-

 


Read Hindi Thought Explanation in the video (in Hindi)

हेलो दोस्तों कैसे है आप मैं अरविन्द कटोच आपके लिए एक नया हिंदी विचार ले कर आया हूँ।  इस वीडियो ब्लॉग में आज हम इस हिंदी विचार के विश्लेषण करेंगे और यह समझने की कोशिश करेंगे कि यह हिंदी विचार हमें क्या सिखाता है।  हर हिंदी विचार से हम कुछ सीख सकते है पर कुछ  ऐसे  होते है जो हमें सफलता में आगे बढ़ने में बहुत मदद करते है और यह हिंदी विचार उन में से ही एक है। अगर आप इस हिंदी विचार तो अपने जीवन में अपना लोगे तो आपको सफल होने से जीवन में कोई भी नहीं रोक सकता। यह हिंदी विचार हमे बताता है कि जो हमारी छोटी-2 कोशिशे होते है उन्हें हम लगातार करते रहे तो हम बहुत बड़ी  हासिल कर सकते है।  यह हमारे बहुत बड़े मददगार हो सकते है। एक बड़ी सफलता को हासिल करने में।  
इससे आगे में शुरू करू आपसे फिर रिक्वेस्ट करता हूँ अगर  आपको मेरे वीडियो ब्लॉग पसंद आ रहे हो तो मेरे वीडियो को लाइक शेयर करना और मेरे  चैनल को सब्सक्राइब करना ना भूले।धन्यवाद। आज मैं जिस हिंदी विचार के बारे में बात करूँगा, वो विचार हमे कहता है बारिश को जो बुँदे  होती है भले ही वह छोटी-२ हो लेकिन उनका लगातार बरसना बड़ी -बड़ी नदियों में बाढ़ ले आता है। अब इस हिंदी विचार से हम  सीख सकते है कि एक बूंद की कुछ भी ताकत नहीं होती, कुछ बूंदे अगर गिरेंगी तो वह कुछ देर में सुख भी जाएंगी।  पर वही बारिश अगर लगातार तीन-चार दिन रहे तो क्या होगा, हर तरफ पानी ही पानी हो जायेगा।  ओर ज्यादा होती है तो बाढ़ भी आ जाती है। इसी तरह से क्या होता है एक बूंद उसकी इतनी ताकत नहीं है, कई बुँदे हैं और जब वह मिलके बरसती है तो उनकी एक ताकत बन जाती है। और ताकत इतनी ज्यादा हो सकती है कि उसके बहुत बड़े-बड़े परिणाम हो सकते है।  इसी तरह से आपकी छोटी-छोटी कोशिश जिसको आप लगातार करते रहोगे तो उससे आप बहुत बड़ा परिणाम भी हासिल कर सकते हो।  वह किसी भी चीज़ में हो सकता है आपकी पढ़ाई में हो सकता है, आप कुछ सीखना चाहते हो उसमें हो सकता है, आप किसी पेशे में आगे बढ़ना चाहते हो। यह निर्भर करता है आपके ऊपर आप क्या पाना चाहते हो। बहुत सारे लोगों की क्या शिकायत  है कि उनके पास समय नहीं है हर व्यक्ति के पास 24 घंटे ही होते है। कुछ व्यक्ति अपने समय को अच्छे से काम में ले आते है और कुछ नहीं कर पाते। अक्सर हमारी सबसे बड़ी मुश्किल क्या होती है कि जो हमारे पास थोड़ा समय होता है जैसे आधे घंटे का समय या कुछ 15 मिनट का समय। हम ज्यादातर इस तरह  बर्बाद कर देते है।  हमे लगता है कि इतना समय हमारे लिए काफी नहीं है। जब हमारे पास 5-6 घंटे होंगे, तब ही हम कुछ करेंगे। तभी हम सीखने की कोशिश करेंगे।  आजकल के टेक्नोलॉजी के समय में हम सब के पास मोबाइल है तो आप इस समय को भी अच्छा इस्तेमाल कर सकते हो। चाहे 15 मिनट मिले, चाहे आधा घंटा मिले, एक घंटा मिले, उसको ही इस्तेमाल कर के हम सीख सकते है।  दूसरी कोशिश होती है कि लगातार करें। आज आपको आधा घंटा मिल, कल आपको एक घंटा मिला, परसो आपको २ घंटे मिले, अगले दिन फिर आपको आधा घंटा मिला। तो फिर आप लगातार सीखते जायेंगे तो वो चीज में आप माहिर हो जायेगें।  हो सकता है कि चीज आपको 6 महीने में ना आये पर साल में आप उस चीज़ को सीख जाओगे। 
आप निरंतर उस तरफ अपना अभ्यास करते रहोगे तो वह चीज़े आपको आयेंगी ही आयेंगी।  जैसे बारिश की बूंदों की ताकत होती है कि बाढ़ ला सकती है, उसी तरह से हमारे छोटे-छोटे प्रयास जो हम लगातार करते है। वो भी हमारी जिंदगी में सफलता की बाढ़ को ला सकते है।  अक्सर मुश्किल यही होती है कि हम यह छोटे-छोटे प्रयास नहीं करना चाहते है। हम क्या करेंगे की अगर पेपर आ रहा है तो उससे पहले दस-दस घंटे पढ़ लेंगे। उससे हम कभी एक बड़ी सफलता हासिल नहीं कर सकते। पेपर में हमें अच्छी सफलता हासिल करनी है तो हमें क्या करना होगा कि पुरे साल चाहे हम दो घंटे ही पढ़े पर रोज पड़ना होगा और लगातार पड़ना होगा ।  अगर हम कुछ देर में बड़ा कुछ करना चाहते है तो यह मुमकिन नहीं है।  कल परसो आप का टूर्नामेंट हो रहा और उसके लिए चयन है।  आप दो दिन प्रैक्टिस करके सोच रहे हो कि आपका चयन हो जायेगा तो ऐसा नहीं है।  आपको क्या करना पड़ेगा, पहले प्रैक्टिस करनी पड़ेगी, चाहे थोड़े समय ही आप प्रैक्टिस करे।  प्रैक्टिस करने से ही इंसान उबरता है। यह सारे प्रयास जब साथ मिल जाते है तो इसका एक बड़ा परिणाम निकलता है।  कुछ ना करने से, अपना समय व्यर्थ गवाने से सब से अच्छा क्या है कि जितना भी समय मिलता है उसका सही उपयोग करे। ताकि आप आगे जिंदगी में बढ़ सके। अब आप हमेशा आड़ रखिये कि जैसे कुछ बुँदे उनका कोई अस्तित्व नहीं है। थोड़ी से बुँदे गिरती है वह बड़ी जल्दी सूख के गायब हो जाती है ।  वहीँ ये बुँदे लगातार गिरती है  तक गिरती है तो यह बाढ़ ले आती है और हर तरफ पानी ही पानी हो जाता है। इसी तरह आपके भी छोटे-छोटे प्रयास जो कि लगातार किये जाये तो बहुत समय तक किये जाये तो वह भी आपके लिए सफलता की बाढ़ लेकर आएंगे। इससे में उम्मीद करता हूँ कि आप  आज के हिंदी विचार को समझते हुए अपने जीवन में सफलता की ओर बढ़ेंगे।  में उम्मीद करता हूँ कि आपको मेरा हिंदी विचार का विश्लेषण पसंद आया होगा। 

No comments:

Post a Comment

Hindi Thought of the Day

The bird sitting on the tree's branch/पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी (Hindi Thought)

"पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी कभी भी डाल हिलने से नहीं घबराता क्योंकि पंछी डाली पर नही अपने पंखों पर भरोसा करता है।"  Hindi Though...

Popular Posts