Hindi Thought (SMS) on Voice जुबान



पंछी अपने पांव के कारण जाल में फसते है परन्तु मनुष्य अपनी जुबान के कारण.


"A bird gets caught in net because of his feet while a man falls in net because of his voice."

No comments:

Post a Comment

Hindi Thought of the Day

The bird sitting on the tree's branch/पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी (Hindi Thought)

"पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी कभी भी डाल हिलने से नहीं घबराता क्योंकि पंछी डाली पर नही अपने पंखों पर भरोसा करता है।"  Hindi Though...

Popular Posts