By condemning others no one (Hindi Thought) दूसरों की निंदा करके किसी को कुछ

Hindi, Thought, Quote, Condemning, rectifies,
By condemning others no one

"दूसरों की निंदा करके किसी को कुछ नहीं मिला। जिसने अपने को सुधारा उसने बहुत कुछ पाया।"

"By condemning others no one found anything. One who rectifies himself, he gets everything." 

Hindi Thought of the Day

The bird sitting on the tree's branch/पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी (Hindi Thought)

"पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी कभी भी डाल हिलने से नहीं घबराता क्योंकि पंछी डाली पर नही अपने पंखों पर भरोसा करता है।"  Hindi Though...

Popular Posts