The person who condemns us (Hindi Thoughts by Kabir) जो व्यक्ति हमारी निंदा करता है

kabir, Hindi, Thought, QUote, shortcomings, condemns, soap, water,
The person who condemns us (Hindi Thoughts by Kabir) 

"जो व्यक्ति हमारी निंदा करता है, उसे अधिक से अधिक अपने पास रखना चाहिए क्योंकि वह बिना साबुन और पानी के हमारी कमियों को बता कर हमारे स्वभाव को साफ़ करता रहता है I कबीर"

"The person who condemns us, keep him closer so that he can clean your nature without soap and water by telling your shortcomings.   Kabir" 

1 comment:

  1. sai itana dijiye jaa mai kutumb samaaye
    mai bhi bhuka naa rahu aur saadhu naa bhuka jaaye

    ReplyDelete

Hindi Thought of the Day

The bird sitting on the tree's branch/पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी (Hindi Thought)

"पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी कभी भी डाल हिलने से नहीं घबराता क्योंकि पंछी डाली पर नही अपने पंखों पर भरोसा करता है।"  Hindi Though...

Popular Posts