Hindi Thought Picture Message on Peace, Greed, Kindness, Contentment शांति, लालच, दया, संतोष

Kindness, Peace, Greed, Contentment, Chanakya, Thought, Hindi,
Chanakya Hindi Thought on Peace, Greed, Kindness

"शांति के बराबर दूसरा कोई तप नहीं है, संतोष से बढ़कर कोई सुख नहीं है, लालच से बड़ा कोई रोग नहीं है और दया से बड़ा कोई धर्म नहीं है । चाणक्य"

"There is no tenacity which is equal to  peace, there is no happiness greater than contentment, greed is bigger than any disease and No religion is greater than kindness.     Chanakya"


Picture Embed Code -

Picture URL -

Hindi Thought of the Day

The bird sitting on the tree's branch/पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी (Hindi Thought)

"पेड़ की शाखा पर बैठा पंछी कभी भी डाल हिलने से नहीं घबराता क्योंकि पंछी डाली पर नही अपने पंखों पर भरोसा करता है।"  Hindi Though...

Popular Posts