Skip to main content

Posts

Showing posts from February 7, 2011

Hindi Thought (SMS) on Now/ आज

जो तुम आज हो वो तुम अपने कल के कारण हो, और जो तुम आने वाले कल में होगे वो तुम्हारे आज के काम पर निर्भर होगा.




What you are is what you have been, and what you will be is what you do
now.
-Buddha

Hindi Thought (SMS) on Ignorance अज्ञानता

किसी भी विषय पर उत्साहित जिज्ञासा के लिए अपने संदेहों को हल करने के पल को पकड़ लो, क्योंकि अगर आप ने इसे जाने दिया, तो हो सकता है इच्छा कभी वापस नहीं आये और आप अज्ञानता में रह जाये.




Seize the moment of excited curiosity on any subject to solve your doubts; for if you let it pass, the desire may never return, and may remain in
ignorance.-William Wirt