Hindi Thought (SMS) on Nature स्वभाव



व्यक्ति के स्वभाव को सपष्ट करने वाली उसकी वाणी होती है, उसका रूप नहीं.


"To clarify the nature of man is his voice, not his form."

Comments